पैसा और परिवार

एक बार एक राजा था । उसके पास खूब सारी धन दौलत थी लेकिन फिर भी वह संतुष्ट नहीं था । जब देखो और पैसा (paisa) और पैसा करता रहता । उसका लालच इतना बड़ा था कि वह यह भी नहीं देखता कि वह पैसा कमाने के लिए सही रास्ते पर चल रहा है या गलत । वह और अमीर बनना चाहता था जनता का पैसा लूट लूट कर उसने बहुत सारी धन दौलत इकट्ठा कर ली थी ।

पैसा और परिवार  | paisa
पैसा

अब उसे इस दौलत को रखने की टेंशन रहती थी । कि इसे कहां रखें जहां इसे कोई ना दे सके । जैसे तैसे राजा ने एक खुफिया जगह ढूंढ निकाली और वहां ले जाकर सारे धन दौलत छुपा दी । इस जगह का पता केवल राजा को और उसके अलावा उसके एक भरोसेमंद मंत्री को था इन दोनों के अलावा पूरे राज्य में या राजा के परिवार में इस खजाने का पता किसी को भी नहीं था । कभी राजा जाता खजाना देखने कि सब ठीक है या नहीं और कभी मंत्री।

एक बार राजा को मन हुआ कि वह जाकर खजाने की जांच करें । वह बिना किसी को बताए उस खुफिया जगह पर पहुंचा । वह खजाने को देखकर मंत्रमुग्ध हो गया । वह इतना खुश था कि कभी खजाने पर नाचता तो कभी लोटता । वह उस खुफिया स्थान पर नाच ही रहा था कि तभी उसका वह मंत्री वहां से गुजरा उसने देखा कि गुफा का दरवाजा खुला हुआ था ।

वह गुफा का दरवाजा खुला देखकर डर गया उसने तुरंत ही अपने पास रखी दूसरी चाबी से बिना यह देखें कि कोई अंदर तो नहीं है, उसका दरवाजा बाहर से बंद कर के वहां से चला गया ।

जब उस राजा का मन तृप्त हो गया तब वह महल जाने के लिए बाहर आने लगा तो दरवाजा नहीं खुला । वह जोर-जोर से मदद के लिए चिल्लाने लगा लेकिन वहां कोई भी मदद के लिए नहीं था । अब राजा को गुफा में कई दिन हो गए और उसे कोई ढूंढने नहीं आया । आता भी कौन किसी को उस जगह का पता ही नहीं था राजा भूख प्यास से बेहाल व लाचार हो गया अब उसे समझ ही नहीं आ रहा था कि क्या करें ।

मानो एक एक सिक्का उससे कह रहा हो कि आज वह भरे खजाने पर बैठा है पर उससे बड़ा गरीब दुनिया में कोई नहीं इतने बड़े खजाने के होते हुए भी एक बूंद पानी को भी तरस गया और जमीन पर गिर पड़ा ।

उसे मृत्यु के करीब आकर जो ज्ञान मिला था वह उसे बांटना चाहता था पर उसके पास लिखने के लिए कुछ भी नहीं था तो उसने अपनी उंगली पर चोट लगाई और उस चोट से निकले खून से दीवार पर कुछ लिखा। धन दौलत से बिस्तर बनाया और उस पर लेट गया ।

पैसा (Paisa) सब कुछ नहीं होता

उधर बहुत दिनों से राज्य में राजा की खोज जारी थी । राजा का कहीं पता नहीं चला । सब सोच रहे थे , कि हो ना हो राजा किसी जानवर का शिकार हो गया है । वह मंत्री जिसे उस खजाने का पता था 1 दिन उस खजाने की ओर चला । वह सोच रहा था कि अब राजा तो रहा नहीं अब वह खजाना मेरा है कुछ हिस्सा लेकर आता हूं ।

जब वह वहां पहुंचा और उसने उस गुफा का दरवाजा खोला तो वह देखकर हैरान रह गया धन दौलत के बिस्तर के ऊपर एक लाश पड़ी थी वो राजा था और सामने दीवार पर लिखा था के इतनी बड़ी धन दौलत मुझे अंत समय में एक बूंद पानी भी ना दे सकी ।

कहानी पैसा छोटी सी है मगर जीवन में आपको पैसे को कितना महत्व देना है , अच्छी तरह समझाती है । मैं यह नहीं कहती कि आप पैसा कमाने पर अपना समय मत लगाइए । अपना समय अपने सपने पूरे करने में लगाएं , पैसा paisa भी कमाए पर कुछ पल कुछ समय अपने वह अपनों के बीच जरूर बिताए। ताकि आप के अंतिम समय में आपको एक गिलास पानी देने वाला आपके साथ हो । अब ये आपको सोचना है की paisa पैसा और परिवार को कैसे एक साथ लाया जाए।

अगर आपको ये Best motivational story in hindi अच्छी लगी हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे और like और share जरूर करे। आपका मेरे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद।

read more : New Motivational story 2022

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: