2 Motivational Story in Hindi | positive thinking | सकारात्मक सोच का जादू 

ये motivational story in hindi आपको जीवन में positive thinking का महत्व बताने के लिए लिखी गयी है , जिन्हे पढ़कर आप जानेंगे कि सकारात्मक सोच होना क्यों जरूरी है?

सकारात्मक सोच का महत्व

सकारात्मक सोच होना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह हमें जीवन की चुनौतियों का सामना करने की शक्ति देती है। यह हमें उम्मीद और आत्मविश्वास देती है, जो हमें अपने लक्ष्यों की ओर आगे बढ़ने में मदद करती है। positive thinking हमें नकारात्मक परिस्थितियों में भी अच्छी बातों को देखने की क्षमता देती है, जिससे हमें नई ऊर्जा मिलती है। इसके अलावा, सकारात्मक सोच हमारे स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाती है, क्योंकि यह हमें स्थिर और शांत बनाती है। इसलिए, हमें हमेशा सकारात्मक सोच रखनी चाहिए। इन कहानियो को पढ़कर आपको सकारात्मक सोच का जादू समझ आ जायेगा। आइये पढ़ते है : 

Motivational Story About Positive Thinking

Motivational Story in Hindi , positive thinking
two farmer friends

एक समय की बात है, एक गांव में दो दोस्त रहते थे – राम और रमेश । वे दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे लेकिन दोनों के स्वभाव बिलकुल अलग थे।  राम हमेशा उदास और निराशा में डूबा रहता था, जबकि रमेश हमेशा खुश रहता था और वह सकारात्मक सोच वाला था। दोनों दोस्त ही किसान थे और खेती करके ही अपना गुजर बसर करते थे। 

एक दिन, गांव में अकाल पड़ गया। खेतों में फसलें सूख गईं और लोगों के पास खाने के लिए कुछ नहीं बचा। राम निराश हो गया और सोचने लगा कि उसका भविष्य अब अंधकार में ही रहेगा। वह और उसका परिवार क्या खायेगा। अब भुखमरी च जाएगी लेकिन वहीं, रमेश ने सोचा कि यह समय निराश होकर बैठने का नहीं बल्कि कुछ नई दिशा देने का है।

रमेश ने अपने खेत में छोटे-छोटे गड्ढे खोदे और उनमें बारिश का पानी इकट्ठा करने की योजना बनाई। उसने अपने खेत को बारिश के लिए तैयार किया, ताकि जब बारिश हो, तो वह पानी इकट्ठा कर सके। तब तक वह पड़ोस के गांव से टैंकर में पानी लेकर आता और खेत में पानी देता।  थोड़ा थोड़ा पानी लेकर उसने अपनी फसल को सूखने नहीं दिया। 

कुछ ही दिनों बाद जब अकाल खत्म हुआ और बारिश हुई, तो रमेश  ने उस पानी का उपयोग करके अपनी फसलों को सिंचा। इसके परिणामस्वरूप, उसकी फसलें फिर से उगने लगीं और उसने अपने परिवार को खिलाने के लिए खाद्यान्न प्राप्त किया। जबकि राम की नकारात्मक सोच के कारण उसकी फसल बर्बाद हो गयी। 

जब रामु ने यह देखा, तो उसने अपनी सोच बदलने का निर्णय लिया। उसने रमेश से सीखा कि सकारात्मक सोच ही व्यक्ति को संघर्ष के समय में मजबूत बनाती है और उसे सफलता की ओर ले जाती है।

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि सकारात्मक सोच हमें हर कठिनाई का सामना करने की शक्ति देती है। यह हमें नई दिशाओं की खोज में सहायता करती है और हमें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करती है। इसलिए, हमें हमेशा सकारात्मक सोच अपनानी चाहिए और अपने जीवन को बेहतर बनाने की कोशिश करनी चाहिए।

आशा है कि आपको यह कहानी पसंद आई होगी। 

दो साधुओं की सोच : सकारात्मक / नकारात्मक | Motivational Story in Hindi

Motivational Story in Hindi, positive thinking story , sakaratmak soch
ek sadhu

जीवन की चुनौतियों का सामना करने में सकारात्मक सोच की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। यह हमें उम्मीद और आत्मविश्वास देती है। इस बात को एक प्रसिद्ध लोक कथा इसे अच्छी तरह से स्पष्ट करती है।

एक गांव में दो साधु रहते थे, जो अपनी साधना में लगे रहते थे। वे दोनों अपने आपको संसार से अलग करके एक झोपड़ी में रहते थे। एक दिन, एक भयानक तूफान ने उनकी झोपड़ी को आधा नष्ट कर दिया।

जब पहला साधु वापस आया और अपनी नष्ट झोपड़ी को देखा, तो वह निराश हो गया और भगवान की निंदा करने लगा। वह सोचने लगा कि उसने अपना सम्पूर्ण जीवन भगवान की उपासना में बिताया, फिर भी भगवान ने उसकी सहायता नहीं की।

दूसरे ओर, जब दूसरा साधु वापस आया और अपनी झोपड़ी को देखा, तो वह खुश हुआ। उसने ईश्वर का हाथ जोड़कर धन्यवाद दिया।  उसने सोचा कि भगवान ने उसकी आधी झोपड़ी को बचा लिया। उसने भगवान का धन्यवाद किया और उसके प्रति अपना विश्वास और बढ़ा लिया।

इस कथा से हमें यह सीख मिलती है कि हमारी सोच हमारे जीवन को प्रभावित करती है। सकारात्मक सोच हमें आशा और उत्साह देती है, जबकि नकारात्मक सोच हमें निराशा और निराशा में डाल देती है। इसलिए, हमें हमेशा सकारात्मक सोच रखनी चाहिए।

read more : Motivational Story

Share this and spread your love

Leave a Comment