जो होता है अच्छे के लिए होता है कहानी

किसी ने सच ही कहा है कि जो होता है अच्छे के लिए होता है । जी हां, सही पढ़ा आपने , बचपन से लेकर बड़े होने तक , हम न जाने कितनी कठिनाइयों से गुजरते है , और कितनी बार ईश्वर को दोष देते हैं कि उसने हमारे साथ ऐसा क्यों किया । कई बार उन कठिनाइयों से निकलने के बाद हमे अहसास होता है कि ईश्वर ने जो किया , अच्छा किया । ऊपरवाला सदा हमारे लिए सही निर्णय ही लेता है बस हमे उसे समझने में थोड़ी देर हो जाती है । ईश्वर की इसी महिमा का वर्णन करती एक कहानी यहां प्रस्तुत है जिसे पढ़कर ईश्वर के प्रति आपका विश्वास मजबूत जरूर होगा ।

Best kahaniya hindi me
kahaniya hindi me

एक कहानी , जो होता है अच्छे के लिए होता है ।

एक बार एक भक्त मंदिर गया और भगवान से बोला कि “हे भगवान आप हमेशा मंदिर में यूं ही खड़े रहते हैं थक जाते होंगे,कभी कहीं घूमने भी चले जाया करिए ।” तभी भगवान बोले की हे भक्त अगर मैं कहीं घूमने चला जाऊंगा तो जितने भी भक्त मुझ से प्रार्थना करने आते हैं उनकी प्रार्थना कौन सुनेगा ।

भक्त बोला, आज मैं आपकी जगह खड़ा हो जाता हूं । आप कहीं घूम कर आ जाइए । भगवान भक्त की बात सुनकर तैयार हो गए और भक्त से बोले कि मैं घूमने चला जाऊंगा , लेकिन मेरी एक शर्त है ।

भक्त बोला कि भगवान आपकी क्या शर्त है ? तभी भगवान बोले कि मैं जब घूमने चला जाऊंगा और तुम मेरी जगह खड़े होंगे तो जितने भी भक्त आएंगे , तुम उन सब की बातें सुनना लेकिन कुछ करना मत । केवल सुनना है तुम्हें और जब मैं आ जाऊं तब मुझे बताना ।

भक्त भगवान की जगह खड़ा हो गया । मंदिर में बहुत सारे भक्त आ रहे थे उनमें सबसे पहले एक बहुत अमीर आदमी आया । अमीर आदमी ने प्रार्थना की और जब वह प्रार्थना करके जा रहा था तब उसकी जेब से उसका बटुआ नीचे गिर गया । वह भक्त जो भगवान की जगह खड़ा था , उसने यह देख लिया था लेकिन वह कुछ बोल नहीं पाया क्योंकि भगवान ने कहा था कि कुछ करना मत । पूजा करने के बाद वह अमीर आदमी वहां से चला गया ।

उसके बाद एक बहुत गरीब आदमी मंदिर में पूजा करने के लिए आया । वह गरीब आदमी अपनी गरीबी से बहुत परेशान था ।उसके घर में खाने को भोजन भी नहीं था । वह ईश्वर से यह मांगने आया था कि हे ईश्वर मेरे घर में खाने को कुछ भी नहीं है कुछ पैसों का इंतजाम कर दो । जब उसने यह दुआ मांगी तभी उसकी नजर नीचे गिरे हुए बटुए पर पड़ी और यह देखकर गरीब आदमी बड़ा खुश हो गया । उसे लगा कि यह बटुआ भगवान ने उसे दिया है । और उसने वह बटुआ उठाया और वहां से चला गया ।

जो भी होता है अच्छे के लिए होता है कहानी :

भगवान की मूर्ति बना भक्त यह सब देख रहा था । उस गरीब आदमी के बाद पूजा करने एक नाविक आया और वह भगवान से अपनी और अपने परिवार की सलामती की दुआ करने लगा क्योंकि वह समुद्र में बहुत दूर नाव लेकर जाने वाला था । तभी वह अमीर आदमी जिसका बटुआ गिर गया था पुलिस को लेकर मंदिर में आ गया और नाविक की तरफ इशारा करके बोला के इसने ही मेरा बटुआ चुराया है आप इसे गिरफ्तार कर लीजिए ।

ऐसा होते हुए मूर्ति बने हुए भक्त से देखा ना गया और वह झट से बोल पड़ा । वह बोला कि बटुआ नाविक ने नहीं चुराया है इससे पहले एक आदमी आया था उस से चुराया है । पुलिस उस गरीब आदमी को जिसने बटुआ उठाया था पकड़ कर ले गई और जेल में डाल दिया ।

तभी भगवान वापस आ गए और उससे सारे दिन की बात पूछने लगे । भक्त ने भगवान को सब कुछ बता दिया तब भगवान भोले के अरे भक्त यह तुमने क्या कर दिया । मैंने कहा था ना कि तुम सिर्फ सुनना कुछ करना मत । अब तुमने सब कुछ गड़बड़ कर दिया है ।

भक्त बड़े आश्चर्य से पूछने लगा कि भगवान मैंने ऐसा क्या कर दिया मैंने तो जो भी किया सही किया । तब भगवान ने बताया कि वह नाविक आज नाव लेकर दूर समुद्र में जाने वाला है और समुद्र में तूफान आने वाला है अगर वह जेल चला जाता तो वह तूफान से बच जाता । जेल से तो वह कुछ दिनों में बाहर आ जाता लेकिन तूफान से कैसे बचेगा ।

वह गरीब आदमी जिसे तुम ने जेल भेज दिया । उसकी भी परेशानी दूर हो जाती । कुछ पैसों से अमीर आदमी पर कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन गरीब और उसके परिवार को दो वक्त की रोटी नसीब हो जाती ।

भक्तों को अब अपनी गलती समझ आ गई थी। अब उसे यह भी समझ आ चुका था, कि ईश्वर जो करता है अच्छे के लिए करता है और जो होता है अच्छे के लिए होता है ।

यदि आप किसी बुरे वक्त से गुजर रहे हैं तब यह कहानी आपको एक नई दिशा दिखाएगी और ईश्वर में विश्वास जगाएगी । अपना कर्म ईमानदारी से करते रहिए और ईश्वर पर विश्वास बनाए रखिए । ईश्वर हमेशा आपका साथ देगा । कितना भी कठिन समय हो आपने धैर्य बनाये रखिये क्योंकि जो होता है अच्छे के लिए होता है

read more :: Best kahaniya hindi me :

अनोखा बंटवारा

सियार और ऊँट

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: