ईश्वर के घर में देर है अंधेर नहीं

Best khaniya Hindi me

ईश्वर पर विश्वास की कहानी , जी हां , एक ऐसी कहानी जो आपको ईश्वर की महिमा पर विश्वास दिलाएगी और इस कहावत को मजबूत करेगी कि ईश्वर के घर में देर है , अंधेर नहीं ।

ईश्वर पर विश्वास की एक कहानी | best kahani hindi me

यह कहानी एक ऐसी बूढ़ी गरीब औरत की है , जो अपने दिमाग होते का इलाज करवाना चाहती थी पर इलाज के लिए दूर जाना मुश्किल था । उसके पास इलाज के लिए पैसे भी नहीं थे । आप समझ सकते हैं कि एक बूढ़ी गरीब औरत के लिए कितना मुश्किल रहा होगा अपने पोते का पालन पोषण करना । उस बच्चे के माता-पिता बहुत पहले ही स्वर्गवासी हो चुके थे । अब उस बूढ़ी औरत को सिर्फ ईश्वर का ही सहारा था । वह रोज ईश्वर की पूजा करती और अपने पोते की सलामती के लिए दुआ मांगती ।

आइए देखते हैं ईश्वर पर विश्वास की कहानी | Best Khaniya hindi me

दरअसल बात उस समय की है , जब एक अमीर व्यक्ति फ्लाइट से दिल्ली आ रहे थे । फ्लाइट थोड़ी देर में नीचे उतरने वाली थी । साहब यह सोचकर खुश थे कि फ्लाइट सही समय पर पहुंच जाएगी लेकिन अचानक ही मौसम ने करवट बदली और तेज बारिश होने लगी । मौसम इतना ज्यादा खराब था कि फ्लाइट को गंतव्य से पहले ही कहीं उतारना पड़ा ।

अब यह अअमीर साहब गुस्सा हो गए और एयरपोर्ट पर स्टाफ पर गुस्सा दिखाने लगे । वह चिल्ला चिल्ला कर कह रहे थे कि मुझे किसी कॉन्फ्रेंस में जाना है मेरा वहां जाना बहुत जरूरी है अगर मै समय पर नहीं पहुंचा तो कॉन्फ्रेंस कैंसिल हो जाएगी । वह बहुत गुस्सा कर ही रहे थे कि तभी एक आदमी उनके पास आया और बोला कि आप डॉक्टर पटनायक है ना । आपको जिस कॉन्फ्रेंस में जाना था मुझे भी वही जाना था मैंने आपको पहचान लिया है ।

अगर आपको जाने की बहुत जल्दी है तो आप एयरपोर्ट से बाहर निकल कर एक टैक्सी कर लीजिए । जहां आपको जाना है वह जगह है यहां से 3 घंटे की दूरी पर ही है । उनको यह विचार अच्छा लगा और बाहर निकल कर एक टैक्सी बुक कर ली। वह टैक्सी ड्राइवर से बोले कि जितनी जल्दी हो सके मुझे इस जगह पर पहुंचा दो , मेरी कॉन्फ्रेंस है । ड्राइवर ने गाड़ी बहुत तेज चलाना शुरु कर दिया लेकिन वह ज्यादा देर बारिश तेज होने की वजह से गाड़ी तेज नहीं चला पाया ।

अब ड्राइवर को समझ नहीं आ रहा था कि वह कैसे साहब को बताए के गाड़ी तेज चलाना मुश्किल है मौसम बहुत ज्यादा खराब था । हिम्मत करके ड्राइवर ने उस अमीर आदमी को कह ही दिया कि गाड़ी चलाना मुश्किल है बारिश बहुत तेज है । अब उस अमीर आदमी को भी यह समझ आ चुका था कि वह आराम से वहां नहीं पहुंच पाएंगे तब उन्होंने ड्राइवर से कहा कि अब वह उन्हें किसी सुरक्षित जगह पर पहुंचा दे जहां वे थोड़ी देर बैठ कर बारिश के रुकने का इंतजार कर सकें ।

ईश्वर की महिमा | best khaniya Hindi me

ड्राइवर ने अचानक एक घर के सामने गाड़ी रोक दी। अमीर आदमी ने दरवाजा खटखटाया तो अंदर से एक बुढ़िया की आवाज आई । वह बोली कि जो भी हो अंदर आ जाओ , मैं पूजा कर रही हूं अवरोध मत डालो और यह सुनकर वह अमीर आदमी अंदर आ गया । उसने देखा की एक छोटा बच्चा बिस्तर पर लेटा हुआ था और एक बूढ़ी औरत पूजा कर रही थी ।

जब बूढ़ी औरत की पूजा खत्म हो गई तब वह आई और बोली कि बारिश से बचने के लिए आए हो , बैठ जाओ । कहो तो चाय बना दूं। वह आदमी को ला के आपने मुझसे चाय के लिए पूछा इसके लिए धन्यवाद वरना कोई किसी अजनबी से इतना कहां पूछता है । आप तो बहुत अच्छी हैं ।

बूढ़ी औरत बोली कि अच्छी कहां हूं , अच्छी तो मैं उस दिन होंगी , जिस दिन अपने पोते का इलाज करवा लूंगी । अमीर आदमी बोला क्या हुआ है आप के पोते को । बुढ़िया ने बताया कि यहां के डॉक्टर कहते हैं कि मेरे बेटे को बहुत भयंकर बीमारी हो गई है । उस बीमारी का इलाज यहां के डॉक्टरों के पास नहीं है । इसकी बीमारी का इलाज केवल दिल्ली में कोई डॉक्टर पटनायक है वही कर सकते हैं । पर वहां जाने के लिए ना तो मेरे पास पैसे हैं और ना ही मैं इतनी सक्षम हूं कि वहां अकेली इसे लेकर जा सकूं । अब तो ईश्वर का ही सहारा है ।

अमीर आदमी अपने मन में सोचने लगा कि शायद ईश्वर ने मुझे यहां पहुंचाने के लिए ही बारिश कर दी ताकि में यहां आ सकूं और इनकी मदद कर सकूं । वह आदमी बुढ़िया से बोला कि मां जी शायद आपकी प्रार्थना ईश्वर ने सुन ली है , मैं ही वह डॉक्टर पटनायक हूं । यह सुनकर बुढ़िया की आंखों में आंसू आ गए और वह बार-बार ईश्वर का धन्यवाद करने लगी कि ईश्वर के घर में देर है पर अंधेर नहीं । डॉक्टर पटनायक ने उस बच्चे का इलाज कर दिया और वह एकदम स्वस्थ हो गया । बुढ़िया ने डॉक्टर पटनायक को ढेर सारा आशीर्वाद दिया ।

देखा आपने ईश्वर पर विश्वास की कहानी , बूढ़ी औरत डॉक्टर के पास नहीं जा सकती थी , पर ईश्वर ने डॉक्टर को ही उसके पास भेज दिया । इसे कहते हैं ईश्वर की महिमा

ये ईश्वर पर विश्वास की कहानी आपके विश्वास को एक बार फिर से जगाने और आपके आत्मविश्वास को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी ।अगर आपको लगता है कि आपके सारे रास्ते बंद हो गए हैं तो आपको निराश नहीं होना चाहिए आपको ईश्वर का नाम लेकर अपने काम को आगे बढ़ाते रहना चाहिए आप देखेंगे कि ईश्वर कहीं ना कहीं से आपके पास किसी को ईश्वर के रूप में जरूर भेज देगा और आपको सफलता मिलेगी ।

ईश्वर पर विश्वास की एक कहानी

अगर आपको ये ईश्वर पर विश्वास की एक कहानी अच्छी लगी हो तो अपनी राय अवश्य दें ।

अन्य पढ़ें Best khaniya hindi me :

जो होता है अच्छे के लिए होता है

अनोखा बंटवारा

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: